Rss Feed
  1. तुम्हारे गालो पे बना हरी नसों का जाल और होटे पे बनी पतली पतली दारारो के बारे में सोचते हुए मैंने कई बार चावल जलाये है.

    |


  2. 0 comments:

    Post a Comment